छाले

छाले हो जाए तो क्या करे

छाले हो जाने पर हमे बेहद परेशानी होती है। खाना पीना सब मुश्किल हो जाता है। तो आइए हम आज इन तकलीफ देने वाले छालों से मुक्ति पाने के उपायो के बारे मे जानते है। आयुर्वेद मे बहुत से ऐसे घरेलू उपाय है जिनसे छाले खतम हो जाते है।

• पानी मे एक चम्मच फिटकरी डाले, उसे अच्छी तरह से मिला ले। इस पानी से दिन मे चार बार कुल्ला करे।

• जामुन के ताजे पत्तों का रस निकाल के, दिन मे तीन-चार बार छालों पर लगाए। लाभ होगा।

• रात को सोते समय छालों पर देसी घी या मक्खन लगा ले, जलन शांत होगी और छाले जल्दी ठीक होंगे।

• मिश्री और इलायची को साथ मे चबाये, छालों मे लाभ होगा।

• हरड़ घिस कर लेप तैयार कर ले, छालों पर लेप करे, आराम मिलेगा।

• सूखा नारियल दिन मे तीन -चार बार चबाए, लाभ मिलेगा।

• पुदीना की ताजी पत्तियों को मिश्री के साथ चबाए, आराम मिलेगा।

• आंवला के पत्तों को पानी मे उबालकर छानले और फ्रिज मे रख दे। दिन मे चार बार इसी पानी से कुल्ला करे।

• ताजे बेलपत्र को दिन मे तीन-चार बार चबाए, छालों मे आराम मिलेगा।

• कुलफ़ा के पत्तों को महीन पीसकर छालों पर लेप करे। आराम मिलेगा।

• छोटी पीपल को पीसकर शहद मे मिलाये। इस मिश्रण को जीभ व मुँह के अंदर लेप करे, छालों मे तुरंत आराम मिलेगा।

• चमेली के पत्तों को साफ करके दिनमे तीन बार चबाए। नियमित प्रयोग से छाले जल्द ही ठीक होंगे।
अल्सर

मुँह का अल्सर एक आम बीमारी है। इसके कोई प्रमुख कारण नहीं है। मुँह काटना (दाँत से), संक्रमन, आनुवंशिकता तथा आहार मे विटामिन बी-12 की कमी जैसे प्रमुख घटक या खून की कमी। तनाव या चिंता भी इसका कारण हो सकते है। मुंह का अल्सर इतना तकलीफ देता है की बोलना चालना, खाना खाना भी कठिन हो जाता है। मुंह के अल्सर से निजात पाने के लिए आए कुछ आयुर्वेदिक उपायो के बारे मे जानते है।

अल्सर हो जाए तो क्या करे

• “एडकौरट्रिल इन औरबेज” नामक दवा मुंह के अल्सर की तकलीफ मे बहुत आराम दिलाती है। इसके इस्तेमाल से अल्सर पर एक सुरक्षात्त्मत
आवरण बन जाता है जिससे घाव जल्दी भर जाता है। इसका दूसरा इलाज कोरलन (Corlan) है। इसमे बायोरल जेल होता है। जो घाव भरने
मे मदद करता है। जबकि मेडिजेल से दर्द कम होता है क्यूंकी इसमे मेन्थाल होता है जो दर्द कम करता है।

• कौर्सोडिल नमक मौठवश से भी काफी आराम मिलता है। इसे आप किसी भी कमिस्ट की दुकान से खरीद सकते है।

• मुंह का अल्सर अधिकांश मामलो मे एक सप्ताह के अंदर चला जाता है। अगर दो-तीन सप्ताह तक बना रहे तो तुरंत डेन्टिस्ट के पास जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *